कौन हैं Piyush Jain, जिनके घर से रेड में मिली अकूत दौलत, आज भी चलते हैं पुराने स्कूटर से

कन्नौज के इत्र कारोबारी पीयूष जैन (Piyush Jain) से बरामद होने वाली संपत्ति और नकदी लगातार बढ़ रही है. सूत्रों के मुताबिक, अब तक 280 करोड़ से ज्यादा की नकदी बरामद हुई है. कानपुर के बाद अब पीयूष जैन के कन्नौज के घर पर छापेमारी चल रही है. जानकारी के मुताबिक, अब तक 200 करोड़ रुपये से ज्यादा बरामद हुए. पैसे गिनने के लिए एसबीआई के अधिकारी बुलाये गए. बड़ी मात्रा में सोना और चांदी भी मिला है.  

सूत्रों के अनुसार, पीयूष जैन ने जीएसटी अधिकारियों को बताया कि पिछले कई सालों में उसने पुश्तैनी सोना बेचकर कैश इकट्ठा किया है क्योंकि वो अपने कारोबार को बढ़ाना चाहता था. हालांकि, सोना किसे बेचा उसकी जानकारी पीयूष जैन नहीं दे पा रहा है. पीयूष के दोनों बेटों से भी पूछताछ चल रही है. 

कौन हैं पीयूष जैन? 

पीयूष जैन मूलरूप से कन्नौज के छिपट्टी मोहल्ले का रहने वाला है. वो कन्नौज में आज भी अपने पुराने स्कूटर से चलते हैं. उनके कन्नौज के घर में एक पुरानी क्वालिस और एक मारुति कार है. वो बहुत ही साधारण आम आदमी की तरह रहते हैं और मोहल्ले में भी किसी से ज्यादा बात नहीं करते हैं. लोगों के मुताबिक, पीयूष के पिता महेश चंद्र जैन पेशे से केमिस्ट हैं. महेश से ही उनके बेटों पीयूष और अंबरीष ने इत्र और खाने-पीने की चीजों में मिलाए जाने वाले एसेंस बनाने का तरीका सीखा. 

15 सालों में तेजी से फैलाया कारोबार
पिछले 15 सालों में पीयूष ने अपने कारोबार को तेजी से फैलाया. अब कानपुर से लेकर मुंबई और गुजरात में भी उसका कारोबार है. कारोबार बढ़ा तो आसपास के 2 मकानों को खरीदकर पीयूष ने अपना आलीशान मकान बनवाया. पीयूष का घर कुछ इस तरह से बना है कि करीब 700 वर्ग गज के मकान में दूसरे मकानों से बालकनी के अलावा कुछ नहीं दिखता. हालांकि मकान में पीयूष के पिता महेश चंद्र जैन और उनका स्टाफ रहता है. पीयूष और उनका भाई अंबरीष यहां अक्सर आते-जाते रहते हैं. पीयूष और अंबरीष के 6 बेटे-बेटियां हैं. सभी कानपुर में पढ़ते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

  1. Iyobosa says

    I love this