1 करोड़ का घर बनाना या 1 करोड़ की एफडी कर के ब्याज कमाना और किराए पर रहना, कौन सा फायदे का सौदा है?

आज के समय में देखा जाए तो दोनों ही विकल्प अच्छे नहीं हैं।

परंतु इनमें से फिर भी पहला विकल्प दूसरे की अपेक्षा बेहतर है, क्योंकि यदि आज आप १ करोड़ लगाकर घर बनाते हैं तो आपको किराया नहीं देना पड़ेगा, साथ ही मकान की क़ीमत बढ़ेगी (जिसे अगली पीढ़ी बेचकर अच्छा पैसा ले सकती है), यदि आप मकान बना रहे हैं, फ़्लैट नहीं तो आप एक मंजिल पर खुद रह सकते हैं और कम से कम २ मंजिल और बनाकर किराएदारों को रख सकते हैं।

दूसरा विकल्प बहुत खराब विकल्प है, क्योंकि आज के समय में एफडी पर मिलने वाला ब्याज ४-५% पर आ गया है जो कि महँगाई दर से कम है, इसका मतलब है कि आपकी पूँजी प्रतिवर्ष १% कम हो जाएगी (यदि महँगाई दर ६% और ब्याज ५% मान लें तो) साथ ही साथ एफडी पर मिलने वाली ब्याज दर प्रत्येक तिमाही में बदलता रहता है।

यदि आपके पास १ करोड़ रुपए हैं और आप ४० साल के आसपास हैं तो आपको शेयर बाजार में निवेश करना चाहिए इसके लिए आप म्यूचुअल फंड या पोर्टफ़ोलियो मैनेजमेंट सर्विसेज़ का सहारा ले सकते हैं।

यह पारिवारिक स्थिति, वित्तीय देनदारियां, आयु, सोच और आप की जरूरत पर निर्भर करता है

आपके पास 1 करोड़ हैं और यदि आप बैंक एफडी में जमा करते हैं-

तो फिर आप प्रति वर्ष लगभग 6 लाख अर्जित करेंगे-50000 प्रति माह-

आप किराए पर एक घर/फ्लैट ले सकते हैं और जीवन का आनंद ले सकते हैं

लेकिन भविष्य में

मुद्रास्फीति के कारण आपकी 1 करोड़ की पूंजी का मूल्य कम हो जाएगा

एफडी पर ब्याज कम हो जाएगा-और फ्लैट का किराया बढ़ जाएगा

Leave A Reply

Your email address will not be published.