स्‍वतंत्रता दिवस (Independence Day – 15 August) के बारे में रोचक अनसुने किस्से

आजादी (independence) का मतलब वही समझ सकता हैै जो कभी गुलाम (Slaves) रहा हो और वही गुुलामी देखी थी हमारे भारत ने, भारत को अंग्रेजों ने लगभग 200 वर्षों तक गुलाम रखा था इस गुुलामी से भारत को 15 अगस्‍त 1947 (15, August  1947) को छुटकारा मिला था य‍ह दिन हर भारत वासियों (Indians) के लिए बहु‍त ही महत्‍वपूर्ण दिन होता है इस दिन के साथ हमारे देश के लोगों की बहुत सी यादें जुडी है इस दिन भारत वासियों को ब्रिटिश शासन (British rule) से स्‍वतंत्रता प्राप्‍त की थी –

  1. प्रत्‍येक वर्ष 15 अगस्‍त के दिन देश के प्रधानमंत्री (Prime minister) लाल किले (Red Fort) पर देश का झंडा फहराते हैं लेकिन देश केे पहले स्‍वतंत्रता दिवस पर भारत के पहले प्रधानमंंत्री पं जवाहर लाल नेहरू (Pandit Jawaharlal Nehru) ने लाल किलेे पर तिरंगा 16 अगस्‍त 1947 को फहराया था
  2. महात्मा गांधी आज़ादी के दिन दिल्ली से हज़ारों किलोमीटर दूर बंगाल नोआखली में थे, जहां वे हिंदुओं और मुसलमानों के बीच सांप्रदायिक हिंसा को रोकने के लिए अनशन पर थे।
  3. जब तय हो गया कि भारत 15 अगस्त को आज़ाद होगा तो जवाहर लाल नेहरू और सरदार वल्लभ भाई पटेल ने महात्मा गांधी को ख़त भेजा। इस ख़त में लिखा था, “15 अगस्त हमारा पहला स्वाधीनता दिवस होगा। आप राष्ट्रपिता हैं। इसमें शामिल हो अपना आशीर्वाद दें।”
  4. गांधी ने इस ख़त का जवाब भिजवाया, “जब कलकत्ते में हिंदु-मुस्लिम एक दूसरे की जान ले रहे हैं, ऐसे में मैं जश्न मनाने के लिए कैसे आ सकता हूं। मैं दंगा रोकने के लिए अपनी जान दे दूंगा।”
  5. जवाहर लाल नेहरू ने ऐतिहासिक भाषण ‘ट्रिस्ट विद डेस्टनी’ 14 अगस्त की मध्यरात्रि को वायसराय लॉज (मौजूदा राष्ट्रपति भवन) से दिया था। तब नेहरू प्रधानमंत्री नहीं बने थे। इस भाषण को पूरी दुनिया ने सुना, लेकिन गांधी उस दिन नौ बजे सोने चले गए थे।
  6. भारत के दो हिस्‍से हो गये थे एक था भारत और दूसरा था पाकिस्‍तान
  7. भारत के अंतिम वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन (Lord Mountbatten) ने 15 अगस्त के दिन को भारत की आजादी का दिन कहा था
  8. 15 अगस्त तक भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा रेखा का निर्धारण नहीं हुआ था। इसका फ़ैसला 17 अगस्त को रेडक्लिफ लाइन की घोषणा से हुआ।
  9. भारत को अंतिम वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन को भारत और पाकिस्‍तान दोनों देेशों के स्‍वतंत्रता कार्यक्रम में शामिल होना था इसलिए वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन ने पाकिस्‍तान (Pakistan) का स्‍वतंत्रता दिवस 14 अगस्‍त तथा भारत का स्‍वतंत्रता दिवस 15 अगस्‍त के रूप में घोषित किया था
  10. भारत देश का तिरंगा सबसे पहले 22 अगस्त, 1907 को भीकाजी कामा (Bhikaji Cama) ने जर्मन में फहराया था लेकिन इस तिरंगे में और भारत के राष्ट्रीय ध्वज में थोड़ा अंतर था
  11. भिकाजी कामा (Bhikaji Cama) के झंडे में सबसे ऊपर हरा रंग, बीच में सुनहरा केसरी और सबसे नीचे लाल रंग था इस झंडे पर ‘वंदे मातरम’ लिखा था
  12. भारत 15 अगस्त को आज़ाद जरूर हो गया, लेकिन उसका अपना कोई राष्ट्र गान नहीं था। रवींद्रनाथ टैगोर जन-गण-मन 1911 में ही लिख चुके थे, लेकिन यह राष्ट्रगान 1950 में ही बन पाया।
  13. देश की आजादी स्थिर रहे इसके लिए डांं राजेन्‍द्र प्रसाद (Dr Rajendra Prasad) ने उज्जैन के ज्योतिष सूर्यनारायण व्यास (Suryanarayana Vyas) से पंचांग देखकर आजादी का मुहूर्त निकलवाया था

और क्‍या हुआ था 15 अगस्‍त के दिन

  • 15 अगस्‍त के दिन ही भारत में युद्ध के समय वीरता का पदक वीर चक्र देने की घोषणा की गई थी
  • भारत में डाक पिन की शुरूआत 15 अगस्‍त 1972 काेे की गई थी
  • भारत में टीवी पर रंगीन प्रसारण की शुरूआत 15 अगस्‍त 1982 को इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) के भाषण के साथ हुई थी
  • भारत के साथ तीन और देश भी अपना स्‍वतंत्रता दिवस इसी दिन को मनाते हैं
    • दक्षिण कोरिया (South Korea) – जापान (Japan) – 15 अगस्त, 1945
    • ब्रिटेन (Britain) – बहरीन (Bahrain) – 15 अगस्त, 1971
    • फ्रांस (France) – कांगो (Congo) – 15 अगस्त, 1960
Leave A Reply

Your email address will not be published.