हर मनोकामना होगी पूरी करें ये उपाय

प्यार एक ऐसा शब्द है जिसमें कुदरत की कोमल भावनाएं छिपी हैं. एक-दूसरे की भावनाओं का एहसास कराता है प्यार. साहित्यकारों का मानना है कि प्यार किया नहीं जाता, हो जाता है. प्यार में कोई ज़ोर  जबरदस्ती नहीं चलती. प्यार में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं. प्यार में मासूमियत होती है और छल का कहीं कोई नामोनिशान नहीं होता. इसलिए प्यार  पूरे दिल, विश्वास और समर्पण से करना चाहिए. कोमल भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने का अर्थ प्रेम को चूर-चूर करना है. प्यार करना आसान है  लेकिन उसे निभाना मुश्किल.

प्यार को उसके अंजाम तक पहुंचाना अपने आप में एक चुनौती होती है. कुछ लोग इस मामले में भाग्यशाली होते हैं जिन्हें मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ता. लेकिन कुछ लोग धर्म और जाति के चक्रव्यूह में फंसकर रह जाते हैं और प्रेम विवाह नहीं कर पाते. यदि आप भी इसी तरह की किसी परेशानी का सामना कर रहे हैं, तो आगे बताये गए नियमों का जानना आपके लिए ज़रूरी है. शास्त्रों की मानें तो प्रेमी जोड़ा कई बार ऐसी ग़लतियां कर देता है, जो सौरमंडल के ग्रहों को उनके खिलाफ कर देती है. इसलिए उनका प्यार शादी तक नहीं पहुंच पाता या पहुंचने के बाद भी किसी कारणवश टूट जाता है. इसलिए उन्हें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए.

इन बातों का रखें ध्यान :

शास्त्र के अनुसार कुंवारे लोगों को गहरे रंग के कमरे में नहीं होना चाहिए. जिनकी उम्र विवाह योग्य हो गई है उनको अपने कमरों में गहरे रंग का उपयोग नहीं करना चाहिए. प्रेम विवाह के इच्छुक लोगों को अपने कमरे की दीवारों को हलके और सुगम रंग से पेंट करवाना चाहिए.

 

 

प्रेमी जोड़ों को जहां तक हो सके काले रंग के वस्त्र पहनने से बचना चाहिए. काला रंग अशुभ होता है. यदि संभव हो तो उन्हें इस रंग के वस्त्र पहनना ही बंद कर देना चाहिए.

जिनकी उम्र शादी योग्य हो गई है और जो विवाह के इच्छुक हैं, उन्हें अपना कमरा साफ़-सुथरा रखना चाहिए. सिर्फ कमरा ही नहीं बिस्तर भी साफ़-सुथरा होना चाहिए. मान्यता की मानें तो ऐसे लोगों को सोते वक़्त अपना सिर दक्षिण की तरफ और पैर उत्तर दिशा की तरफ करके सोना चाहिए.

शादी के इच्छुक लोगों को या कुंवारे लोगों को घर आये अतिथियों का हमेशा सम्मान करना चाहिए. इनका अनादर करने से विपरीत परिणाम झेलने पड़ सकते हैं. एक उपाय के अनुसार यदि आप तांबे का चौकोर टुकड़ा लेकर उसे ज़मीन में दबा देते हैं, तो प्रेम विवाह में आने वाली सारी बाधाएं खत्म हो जायेंगी और प्रेम विवाह का योग बन जाएगा.

जो लड़कियां प्रेम विवाह करना चाहती हैं, वह अगर हर सुबह नहा-धोकर शिव मंदिर जाकर दूध व जल के मिश्रण से शिवलिंग को अभिषेक करे, तो उनका विवाह जल्द और बिना किसी बाधा के संपन्न होगा. शिवलिंग पर जल चढ़ाते समय ‘ओम सोमेश्वराय नम:’ मंत्र का जाप ज़रूर करें. इसके अलावा आप रोज़ाना भगवान श्री कृष्ण के भी किसी मंत्र का जाप कर सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.