ऐसे थे हमारे शास्त्री जी – लाल बहादुर शास्त्री, ईमानदारी की मिसाल थे

आज 2 अक्टूबर है और आज हमारे पूर्व प्रधानमंत्री शास्त्री जी का जन्म दिन है। उन्होंने देश के लिए बहुत कुछ किआ, परंतु दुख की बात है आज इतिहास में उनका नाम बस कही कही ही देखने को मिलता है।

आइये हैम सब मिलकर शास्त्री जी के बारे में लोगो को बताए, की सिर्फ आज महात्मा ग़ांधी का ही नही शास्री जी का भी जन्म दिवस है।

एक छोटी सी कहानी है जब वो रेलवे मंत्री थे।

ईमानदारी की मिसाल थे- लाल बहादुर शास्त्री

उन्होंने माँ को नहीं बताया था कि वो रेलमंत्री हैं।

कहा था, ”मैं रेलवे में नौकरी करता हूँ।”

वो एक बार मुगलसराय मे आए थे जब उनकी माँ भी वहाँ पूछते पूछते पहुँची कि मेरा बेटा भी आया हैं वो भी रेलवे में हैं।

आपके लिए बेहतरीन अजब गजब Posts

लोगों ने पूँछा क्या नाम है तो उन्होंने जब नाम बताया तो सब चौक गए बोले, ”ये झूठ बोल रही है।”

पर वो बोली, ”नहीं वो आए है।”

लोगो ने उन्हें लाल बहादुर शास्त्री के सामने ले जाकर पूँछा, ”क्या वहीं हैं ?”

तो माँ बोली, ”हाँ, वो मेरा बेटा है।”

लोग, मंत्री जी से दिखा कर बोले, ”वो आपकी माँ है।”

तो उन्होंने अपनी माँ को बुला कर पास बैठाया और कुछ देर बाद घर भेज दिया।

तो पत्रकारों ने पूँछा, ”आप ने, उनके सामने भाषण क्यों नहीं दिया।”

”मेरी माँ को नहीं पता कि मैं मंत्री हूँ। अगर उन्हें पता चल जाय तो लोगों की सिफारिश करने लगेगी और मैं मना भी नहीं कर पाऊँगा। …… ……. और उन्हें अहंकार भी हो जाएगा।”

जवाब सुन कर, सब सन्न रह गए।

सैल्युट है माँ भारती के ऐसे महान नेता को!!
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 Hpy bday sir

Leave A Reply

Your email address will not be published.