अंधविश्वास से भरे हैं ये 11 देश बच्चों से लेकर डेड बॉडी तक खा जाते हैं ये लोग!

दुनिया के लगभग सभी देशों में अंधविश्वास कायम है। अमेरिका जैसे विकसित देशों में प्रचलित लकी चार्म या 13 के अंक को लेकर डर भी अंधविश्वास का ही रूप है। लेकिन बहुत सारे देशों में अंधविश्वास बहुत भयावह रूप में फैला हुआ। इसके चलते हर साल हजारों लोगों को जान गंवानी पड़ती है या शारीरिक और मानसिक रूप से खूब तड़पना पड़ता है।

बेहद दुख की बात यह है कि इस प्रकार के अंधविश्वास का सबसे बुरा असर बच्चों और महिलाओं पर पड़ता है।

कांगो की ‘डायन’ बच्चियां

अफ्रीकी देश कांगो में किसी को अगर बच्चे की परवरिश नहीं करनी होती, तो एक रास्ता यह होता है कि उसे डायन या काला जादू करने वाला घोषित करके घर से निकाल दिया जाए। लोग आमतौर पर सौतेले बच्चे के साथ ऐसा करते हैं या फिर उस बच्चे के साथ, जिसे उनके रिश्तेदार मरने के बाद उनके जिम्मे छोड़ गए होते हैं। लोग एक-दूसरे के बच्चों पर दुश्मनी में ऐसा इल्जाम भी लगाते हैं। यदि आस-पड़ोस के लोग किसी बच्चे को विच कहने लगते हैं, तो फिर उसके पैरेंट्स को प्रीस्ट के पास ले जाकर उसकी शुद्धि करानी पड़ती है। इसमें बच्चे को इस बुरी तरह टॉर्चर किया जाता है कि थर्ड डिग्री भी शरमा जाए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.