इन 16 मान्यताओं को अन्धविश्वास समझते आये होंगे, अब इनके पीछे के वैज्ञानिक कारण भी जान लो

प्रोग्रेसिव बनने के चक्कर में आज लोग कई पुरानी परम्पराओं को नकारते नज़र आते हैं. खैर, रूढ़िवादी परम्पराओं को नकारने में कोई बुराई भी नहीं है. लेकिन पुराने समय की सभी परम्पराओं के पीछे रूढ़ीवाद है, ऐसा नहीं है. कुछ परम्पराएं ऐसी भी हैं, जुनके पीछे साइंस है और बेहतर होगा कि हम इन परम्पराओं को साथ लेकर ही आगे बढ़ें.

ये हैं वो परम्पराएं जो महज़ अन्धविश्वास नहीं हैं, बल्कि इनके पीछे है वैज्ञानिक कारण:

1. ग्रहण के समय बाहर न निकलना

ग्रहण के वक़्त बाहर निकलने से आंखों और त्वचा पर बुरा असर पड़ सकता है. इसलिए ग्रहण के वक़्त बाहर निकलने से मना किया जाता था.

Leave A Reply

Your email address will not be published.